Backlink क्या है और High Quality Backlink कैसे बनायें?

Post a Comment

Backlink क्या है और High Quality Backlink कैसे बनायें? Full Guide

नमस्कार दोस्तों, हिंदी टेक बुक में आपका स्वागत है। आज हम इस पोस्ट में आपको यह बताने वाले हैं कि Backlink क्या है और High Quality Backlink कैसे बनायें? जितने भी पुराने ब्लॉगर्स होते हैं उनको बैकलिंक के बारे में अच्छे तरीके से पता होता है, लेकिन नए ब्लॉगर्स को "बैक लिंक क्या है?" यह समझने में थोड़ी परेशानी होती है। इसलिए आज के टॉपिक में हम Backlink के बारे में पूरे विस्तार से जानेंगे कि आखिर बैकलिंक कैसे काम करता है? और हम "Backlink की मदद से अपने ब्लॉग पोस्ट को गूगल सर्च इंजन में Higher Position पर कैसे रैंक करा सकते हैं?"

यदि आप एक नए ब्लॉगर हैं तो आपको बैक लिंक कैसे बनाना चाहिए? और बैकलिंक का किस तरह से इस्तेमाल करना चाहिए? इन सब के बारे में हम स्टेप बाय स्टेप Detailed Information देंगे। तो चलिए शुरू करते हैं कि बैकलिंक क्या होता है और बैकलिंक किस तरह से बनाया जाता है?


बैकलिंक क्या होता है? Blog के लिए कैसे बनाएं?

Backlink क्या है और High Quality Backlink कैसे बनायें?
Backlink क्या है और High Quality Backlink कैसे बनायें?

बैकलिंक एक प्रकार की लिंक होती है जिसकी मदद से एक वेबसाइट किसी दूसरी वेबसाइट के पोस्ट या पेज को अपने पोस्ट या पेज से Connect करती है। आसान शब्दों में कहें तो जब हम किसी वेबसाइट के Link को अपनी वेबसाइट में लगाते हैं तो वह लिंक उस वेबसाइट के लिए बैकलिंक बन जाती है और जब हम अपनी वेबसाइट के Link को किसी दूसरी वेबसाइट पर लगाते हैं तो वह लिंक हमारी वेबसाइट के लिए बैकलिंक कहलाती है। बैक लिंक को Inbound Link या Incoming Link के नाम से भी जाना जाता है।

बैक लिंक बनाने के लिए आपको अपने ब्लॉग के एक पोस्ट से दूसरे पोस्ट में Internal Linking करना चाहिए। ऐसा करने से आपके पोस्ट को सर्च इंजन में Rank करने में Boost मिलती है। Internal Linking को हम Backlink तो नहीं कह सकते लेकिन ये Links बैकलिंक की ही तरह काम करती हैं। इसके लिए आपको दूसरी साइट की मदद नहीं लेनी पड़ती है।


बैकलिंक कितने Type के होते हैं? (Type Of Backlinks)

यूं कहें तो बैकलिंक मुख्यतः दो प्रकार की होती है पहली Dofollow Backlink और दूसरी Nofollow Backlink होती है। आइए इसे विस्तार से समझते हैं:

1. Dofollow Backlink

Dofollow Backlink एक तरह की बैकलिंक होती है जो किसी एक वेबसाइट से दूसरी वेबसाइट पर Link Juice को पास करने में मदद करती है। यानी कि जब हम किसी दूसरी साइट से अपनी साइट पर Dofollow बैकलिंक बनाते हैं तो उस वेबसाइट की Domain Authority और Page Authority का Effect भी हमारे ब्लॉग पर पड़ता है।

यदि हम अच्छी वेबसाइट से अपनी वेबसाइट के लिए Dofollow बैकलिंक बनाएंगे तो हमारी वेबसाइट को उस वेबसाइट की मदद से Search Engine में रैंक कराना आसान हो जाएगा। इसलिए आप जब भी Doफॉलो बैकलिंक्स बनाएं तो किसी अच्छी साइट से ही बनाएं।


2. Nofollow Backlink

Nofollow Backlink एक तरह की बैकलिंक होती है जो किसी वेबसाइट के Page Rank को दूसरी वेबसाइट तक पहुंचने नहीं देती है। यानी कि यदि हम किसी वेबसाइट से अपनी वेबसाइट के लिए Nofollow बैकलिंक लेते हैं, तो उस वेबसाइट की Domain Authority और Page Authority का उस लिंक से मिलने वाला Link Juice हमारी वेबसाइट तक नहीं पहुंच पाता है। सीधे शब्दों में कहें तो नोफॉलो बैकलिंक बनाने से एक वेबसाइट दूसरी वेबसाइट के SEO में मदद नहीं करती है।


Dofollow बैकलिंक्स Nofollow बैक लिंक में क्या अंतर होता है?

  • Dofollow Backlink किसी वेबसाइट से मिलने वाले पेज रैंक को दूसरी वेबसाइट में पास करने में मदद करती है जबकि Nofollow Backlink बनाने से पेज रैंक पास नहीं हो पाता है
  • Dofollow Backlinks के HTML में rel attribute नहीं होता है जबकि Nofollow Backlinks के HTML में nofollow का rel tag लगा रहता है। आप इसे चित्र के माध्यम से भी समझ सकते हैं।


बैकलिंक किस तरह से बनाना चाहिए?

यदि आप यह जानना चाहते हैं कि बैकलिंक किस तरह से बनाना चाहिए? इस पूरे पोस्ट को बहुत ही ध्यान से पढ़ें, ताकि आप Back Link बनाने के बारे में अच्छी तरह से समझ सके। आप अपने ब्लॉग के लिए जितना ज्यादा हो सके उतना बैकलिंक बनाइए, लेकिन आपको यह कोशिश करना चाहिए कि आप जब भी बैक लिंक बनाएं तो अच्छी Websites से ही Back Link बनाएं।

यदि आप अच्छी वेबसाइट से बैकलिंक नहीं बनाएंगे तो उन बैकलिंक्स का कोई महत्व नहीं रह जाएगा। इसलिए सबसे पहले आप जब भी ब्लॉग पोस्ट लिखें तो उस ब्लॉग पोस्ट को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें और उन्हें भी आगे शेयर करने को कहें। इससे आपके Blog की पहचान जल्दी से Build-up होती है। लोगों को आपके ब्लॉग के बारे में जानने का मौका मिलता है। लेकिन Blog Post को शेयर करने के लिए Spamming करने से बचना चाहिए।


Backlink बनाने के कितने तरीके हैं?

यदि आप किसी Blog को जल्दी से रैंक कराना चाहते हैं, तो आपको ज्यादा से ज्यादा Backlinks बनानी चाहिए। हम पहले यह जान लेते हैं कि Backlink बनाने के कितने तरीके हैं? आज के समय में एक वेबसाइट या Blog के लिए Backlinks बनाना बहुत ही आसान है। बैकलिंक्स बनाने के कई तरीके उपलब्ध हैं जिनमें से कुछ तरीकों को हम आपके साथ शेयर कर रहे हैं।

1.Quality Article लिखें

Backlink बनाने के लिए सबसे जरूरी चीज यह होती है कि आप अपने Blog में Quality Article लिखें। क्योंकि यदि आप किसी दूसरी वेबसाइट से अपनी वेबसाइट के लिए बैकलिंक लेना चाहते हैं तो वह वेबसाइट सबसे पहले यह देखती है कि आपका Blog किस तरह के कंटेंट पर आधारित है। जब आपके Blog पर अच्छे कंटेंट होंगे तभी कोई दूसरा Blog आपके पोस्ट या पेज के लिए बैकलिंक देगा। इसलिए आपको ज्यादा से ज्यादा Quality content लिखने पर ध्यान देना चाहिए।


2. Guest Post लिखें

बैकलिंक बनाने का दूसरा तरीका यह है कि आप किसी दूसरी वेबसाइट पर जाकर Guest Post लिखें। गेस्ट पोस्ट का मतलब यह होता है कि आपको अपने ब्लॉग के Niche से रिलेटेड किसी दूसरे ब्लॉग पर एक अच्छा सा कंटेंट लिखना पड़ता है, जिसमें आप अपने ब्लॉग का URL दे सकते हैं। यह भी एक तरह की Dofollow बैकलिंक होती है।


3. Comment करके Backlink बनाएं

बैक लिंक बनाने का तीसरा तरीका यह है आप अपने ब्लॉग से रिलेटेड किसी दूसरे ब्लॉग पोस्ट को पढ़ें और उस पोस्ट के कमेंट बॉक्स में अपनी राय दें। इसके साथ ही आप अपने किसी पोस्ट या पेज का लिंक भी लिख दें। यानी कि आप दूसरे Blog पर Comment करके Backlink बनाएं। इस Type की बैकलिंक Nofollow होती है।


4. Social Sharing करें

अपने ब्लॉग के लिए बैकलिंक बनाने का एक तरीका यह भी है कि अपने ब्लॉग के यूआरएल को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे कि Facebook, Twitter, Pinterest, WhatsApp इत्यादि पर ज्यादा से ज्यादा Social Sharing करें। इससे यह होता है कि आपके ब्लॉगपोस्ट का यूआरएल जहां भी शेयर किया जाता है। वहां से लोग आपकी वेबसाइट पर विजिट करते हैं, जो आपके ब्लॉग के लिए एक Referral Traffic का काम करता है। इसे भी आप चाहे तो बैकलिंक मान सकते हैं।


Backlink बनाने का सबसे आसान तरीका क्या है?

Backlink बनाने का सबसे आसान तरीका यह है कि आज जितना ज्यादा हो सके अपने ब्लॉग को उतना ज्यादा शेयर करें। सोशल नेटवर्किंग साइट पर अपनी प्रोफाइल बनाएं और उसमें अपनी बारे में अच्छे तरीके से Describe करें। इसके बाद अपने ब्लॉग का URL भी उसमें लिखें। ऐसा करने से कोई भी सोशल नेटवर्किंग साइट आपकी प्रोफाइल को देखती है और पहले यह समझती है कि आपका प्रोफाइल Genuine है। इसके लिए आपको अपना Description बिल्कुल ही अच्छा लिखना चाहिए तभी वह आपके लिए बैकलिंक देगी।

इसके लिए आप गूगल में अपने ब्लॉग से रिलेटेड किसी भी कीवर्ड को सर्च करें और Top 10 वेबसाइट पर जाकर उनके पोस्ट को पढ़ें और उसके कमेंट बॉक्स में उस पोस्ट के बारे में अच्छी इंफॉर्मेशन लिखें। उसके साथ ही अपनी वेबसाइट का लिंक वहां पर डाल दें।


बैकलिंक बनाने के क्या फायदे होते हैं?

यदि आप High Quality वेबसाईट से बैकलिंक बनाते हैं तो Backlink बनाने से बहुत सारे फायदे मिलते हैं।

  1. बैक लिंक बनाने से आपके ब्लॉग के पोस्ट या पेज को Fast Indexing में मदद मिलती है।
  2. High quality की बैकलिंक बनाने से आपके ब्लॉग की रैंकिंग भी इंप्रूव होती है। इसलिए जितना हो सके ज्यादा से ज्यादा हाई क्वालिटी की Back Link बनाएं।
  3. जब आप किसी दूसरी वेबसाइट से अपनी वेबसाइट के लिए बैकलिंक लेते हैं तो आप चाहें तो उस वेबसाइट के लिए अपनी वेबसाइट से बैकलिंक दे सकते हैं। इससे इन दोनों Websites के बीच में अच्छा रिलेशन बना रहता है।
  4. बैकलिंक बनाने से आपके ब्लॉग की Domain Authority और Page Authority को भी इंप्रूव करने में मदद मिलती है।


किस Type की बैकलिंक नहीं बनाना चाहिए?

यदि आप एक न्यू ब्लॉगर हैं और चाहते हैं कि आपका ब्लॉग गूगल में जल्दी से रैंक करें तो आप हमारा यह पोस्ट पढ़ सकते हैं:

कई सारे नए ब्लॉगर्स जल्दी से जल्दी ज्यादा बैकलिंक के चक्कर में गलत वेबसाइट से बैकलिंक ले लेते हैं। जिसका उनके ब्लॉग के SEO पर Negative Effect पड़ता है। इसलिए बैकलिंक बनाते समय ध्यान रखें कि उन्हीं वेबसाइट से बैकलिंक बनाएं जिनका Spam Score काफी कम हो और उनका DA, PA ज्यादा से ज्यादा हो।


Conclusion

आज के पोस्ट में हमने यह सीखा कि Backlink क्या है और High Quality Backlink कैसे बनायें? ऊपर दिए गए सारे टिप्स को ध्यान से पढ़ कर आप अपने ब्लॉग के लिए अच्छे तरीके से बैकलिंक बना सकते हैं। यदि आपको यह पोस्ट अच्छी लगी हो तो अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर जरूर शेयर करें। इस पोस्ट के बारे में आप अपने विचार कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं। आप चाहे तो ब्लॉगिंग से रिलेटेड किसी भी प्रकार के सवाल को कमेंट करके पूछ सकते हैं। हम आपके सवालों का जवाब देने की पूरी कोशिश करेंगे।

धन्यवाद!

Related Posts

Post a Comment